यु मत तड़पा online दिखा के, अब छोड़ ही दिया हे तो block कर दे...

तुम बदले तो मज़बूरिया थी
हम बदले तो बेवफा हो गए

तुम्हारी औकात इतनी नही कि
ए हमारा तेवर झेल सको

NIKE के पजामे और छोरियाँ के डरामें
सालो साल चलते है

वोह जो तेरा कुछ नहीं लगता
तुझ बिन परेशान रहता है

वोह जो तेरा कुछ नहीं लगता
तुझ बिन परेशान रहता है

काफिला खुशबू का गुजरा है
तुम कहीं आस पास हो शायद

कुछ तो बेवफाई मुझमे भी है
जिंदा हुँ मे तेरे बगैर

बच्चे जब बड़े हो जाते है
बाप के सर पर खड़े हो जाते है

हम जिसे अपना चाँद कहते थे उसने तारे दिखा दिए दिन में

तुम पुकारो तो एक बार मुझे
मौत की हद से भी लौट अाऊंगा...

नफ़रत सी हो गई हैँ इस दुनिया से, एक तुम से मोहब्बत करके॥

किन चिरागों की बात करते हो
सब चिरागों तले अँधेरा है

ऐसे जख्मों का क्या करे कोई
जिन्हें मरहम से आग लग जाए

कांटे तो नसीब में आने ही थे
फूल जो हमने गुलाब चुना था