मनुष्य को धोखा मनुष्य नहीं देता है बल्कि वो उमीदें धोखा दे जाती हैं जो वो दूसरों से रखता है।

किसी ने सही कहा है कि गरीब आदमी मंदिर के बाहर भीख मांगता है; और अमीर आदमी मंदिर के अंदर भीख मांगता है।

हमारा सलाहकार कौन है यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि दुर्योधन शकुनि से सलाह लेता था और अर्जुन श्री कृष्ण से।

समय और समझ दोनों एक साथ खुश किस्मत लोगों को ही मिलते हैं क्योंकि... अक्सर समय पर समझ नहीं आती और समझ आने पर समय निकल जाता है।

पहाड़ से गिरा हुआ इंसान फ़िर से उठ सकता है; लेकिन नज़रों से गिरा हुआ इंसान कभी नहीं उठ सकता।

जब सभी लालची हो जाते हैं तो हम डर के रहते हैं और जब सभी डर जाते हैं तब हम लालची बन जाते हैं।

जो आपसे जलते हैं उनसे घृणा कभी ना करें; क्योंकि यही तो वह लोग हैं; जो यह समझते हैं कि आप उनसे बेहतर हैं।

कई बार आपके द्वारा कहे सहानुभूति भरे दो शब्द किसी को जीवन में कठिन से कठिन समस्या का सामना करने का मनोबल दे देते है।

जिंदगी में शांति से जीने के दो ही तरीके हैं। माफ़ कर दो उनको जिन्हें तुम भूल नहीं सकते; भूल जाओ उनको जिन्हें तुम माफ़ नहीं कर सकते।

यदि आप अपनी प्रतिष्ठा का सम्मान करते हैं तो अच्छे गुणों से संपन्न लोगों के साथ जुड़िये; क्योंकि बुरी संगत में रहने से अकेले रहना ज्यादा अच्छा है।

क्रोध एक प्रचंड अग्नि है जो मनुष्य इस अग्नि को वश में कर सकता है वह उसे बुझा देगा और जो मनुष्य अग्नि को वश में नहीं कर सकता वह स्वयं अपने आप को जला लेगा।

पक्षपात सब बुराइयों की जड़ है।

दया मनुष्य का स्वाभाविक गुण है।

रिश्ते मौके के नहीं भरोसे के मोहताज होते हैं।

ये जरुरी नही कि हर जंग जीती जाए; जरुरी तो यह हैं कि हर हार से कुछ सीखा जाए।